LPG के बढ़ते दामों पर कांग्रेस का हल्ला बोल, सिलिंडर के साथ प्रेस कॉन्फ्रेंस में पहुंचीं सुप्रिया श्रीनेत

सुप्रिया श्रीनेत ने कहा कि यूपीए सरकार के समय सिलिंडर लेकर सड़कों पर बैठने वाली बीजेपी की महिला नेता आज चुप क्यों हैं?

Updated: Feb 15, 2021, 05:44 PM IST

LPG के बढ़ते दामों पर कांग्रेस का हल्ला बोल, सिलिंडर के साथ प्रेस कॉन्फ्रेंस में पहुंचीं सुप्रिया श्रीनेत
Photo Courtesy : ABP

नई दिल्ली। देशभर में डीजल-पेट्रोल के दामों में हो रही वृद्धि को लेकर कांग्रेस कार्यकर्ता विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं। इसी बीच एलपीजी सिलिंडर के दाम आज से और पचास रुपये बढ़ा दिए गए हैं। केंद्र के इस फैसले के बाद कांग्रेस नेता लगातार बीजेपी सरकार पर हमला बोल रहे हैं। रसोई गैस के दाम में बढ़ोतरी के विरोध में कांग्रेस नेता सुप्रिया श्रीनेत प्रेस कॉन्फ्रेंस में सिलिंडर लेकर पहुंच गईं।

राजधानी दिल्ली स्थित कांग्रेस मुख्यालय में आयोजित प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान श्रीनेत ने मोदी सरकार पर कुप्रबंधन, मुनाफाखोरी करने और आम लोगों की फिक्र नहीं करने का आरोप लगाया है। उन्होंने बिना नाम लिए केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी पर निशाना साधते हुए कहा कि यूपीए सरकार के समय सिलिंडर लेकर सड़क पर बैठने वाली भाजपा की महिला नेता अब चुप क्यों हैं?

चूल्हे-चौके और गृहणियों की कमर तोड़ने की तैयारी- सुप्रिया श्रीनेत

कांग्रेस प्रवक्ता ने कहा, 'नरेंद्र मोदी जी की निर्मम और अनैतिक सरकार ने किसानों के साथ तो अन्याय करने की ठान ही ली है। हर तरह का अन्याय और बर्बरता कर ही रहे हैं पर अब देश के हर चूल्हे-चौके, हर गृहिणी, आम-आदमी की भी कमर तोड़ने का फैसला कर लिया है। पेट्रोल का दाम एक नया कीर्तिमान स्थापित कर ही रहा है, अब मात्र 10 दिनों के अंदर रसोई गैस के सिलिंडर में ₹75 की कीमत का इजाफा हुआ है। 4 फरवरी को सिलिंडर की कीमत ₹25 बढ़ी थी और अब 15 तारीख़ से यह कीमत ₹50 और बढ़ा दी गई है। इतना ही नहीं दिसंबर 2020 मतलब 2 महीने के भीतर यह कीमत ₹175 प्रति सिलेंडर बढ़ चुकी है।'

यह भी पढ़ें: LPG सिलेंडर के बढ़ते दामों पर कांग्रेस का वार, राहुल ने कहा, सिर्फ दो लोगों का हो रहा विकास

श्रीनेत ने आरोप लगाया कि, 'इस सरकार के कारण,  आज अर्थव्यवस्था पूरी तरह से ठप्प हो चुकी है, बेरोजगारी मुंह बाए खड़ी है। इन्हीं के कुप्रबंधन के चलते लोगों का वेतन घटता जा रहा है, और अब आप लोगों पर कमरतोड़ महंगाई का वार कर रहे हैं।' उन्होंने कहा, 'वह प्रहार फिर चाहे पेट्रोल डीजल का दाम हो या रसोई गैस की कीमतें। इसका प्रभाव अमीर से अमीर और गरीब से गरीब आदमी पर पड़ता है लेकिन सरकार को इससे रत्ती भर भी फर्क नहीं पड़ता है। मोदी जी ने गृहिणी और आम आदमी के बजट में ऐसी सेंध लगा दी है जिससे वह जूझ पाने में असमर्थ है। अगर आम आदमी इन आसमान छूती हुई क़ीमतों के खिलाफ बोलेगा तो उसके ऊपर देश द्रोही होने का ठप्पा लग जाएगा।' 

उन्होंने आगे कहा, 'मोदी सरकार ने अभी तक के अपने कार्यकाल में 8 गुना एक्साइज ड्यूटी डीजल के ऊपर बढ़ाई है और 2.5 गुना एक्साइज ड्यूटी पेट्रोल के ऊपर बढ़ी है। हमारी सरकार में यही एक्साइज ड्यूटी डीज़ल पर ₹3.50 प्रति लीटर थी जो अब ₹32 प्रति लीटर है और जो पेट्रोल पर ₹ 9प्रति लीटर थी वो अब ₹33 प्रति लीटर है। इसी को वापस कर लेने मात्र से ही आम जनता को भारी राहत मिलेगी। क्या सरकार का काम मुनाफाखोरी करके आम जनता की कमर तोड़ने का है?' उन्होंने सरकार से बढ़ी हुई क़ीमतों को तुरंत वापस लेने की मांग भी की।

महंगाई के नाम पर सत्ता में आने वाले आज लोगों को इसी आग में झोंक रहे - कमलनाथ

एलपीजी सिलिंडर के दामों में बढ़ोतरी को लेकर वरिष्ठ कांग्रेस नेता व मध्य प्रदेश के पूर्व सीएम कमलनाथ ने भी केंद्र पर निशाना साधा है। उन्होंने ट्वीट किया, 'पेट्रोल - डीज़ल एवं रसोई गैस के दामों में निरंतर वृद्धि हो रही है, जनता पर महंगाई की मार निरंतर बढ़ती जा रही है। जो लोग महंगाई से राहत के नाम पर सत्ता में आये थे वो आज जनता को रोज़ महंगाई की आग में झोंक रहे है। जनता निरंतर करो में कमी कर राहत प्रदान करने की माँग कर रही है लेकिन भाजपा सरकार तानाशाही रवैया अपनाते हुए किसी भी प्रकार की राहत प्रदान नहीं कर रही है।'

उन्होंने आगे कहा, 'कांग्रेस जनता के साथ सदैव खड़ी है , जनता के हित के लिये हम सदैव संघर्षरत है और रहेंगे। पेट्रोल- डीज़ल के व रसोई गैस के दामों में हो रही बेतहाशा वृद्धि के विरोधस्वरुप ,जनता को राहत प्रदान करने की माँग व भाजपा सरकार को कुंभकर्णीय नींद से जगाने को लेकर मध्यप्रदेश में कांग्रेस 20 फ़रवरी को जनता से स्वेच्छा से आधे दिन के प्रदेश बंद का आव्हान करती है।'