पहली की स्टूडेंट जियाना ने बनाया वर्ल्ड रिकॉर्ड, साढ़े 9 मिनट में बताए 195 देशों के नाम और उनसे जुड़े फैक्ट्स

इंदौर की जियाना शाह का नाम गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड, वर्ल्ड बुक ऑफ रिकॉर्ड और OMG बुक ऑफ रिकॉर्ड में दर्ज, उन्होंने ऑनलाइन सेशन में 12 मिनट का टारगेट 9 मिनट 31 सेकंड में पूरा किया, तीनों रिकॉर्ड अपने नाम करने वाली विश्व की पहली बच्ची बनीं

Updated: Oct 06, 2021, 04:39 PM IST

पहली की स्टूडेंट जियाना ने बनाया वर्ल्ड रिकॉर्ड, साढ़े 9 मिनट में बताए 195 देशों के नाम और उनसे जुड़े फैक्ट्स
Photo Courtesy: Indian express

इंदौर। अपनी अद्भुत प्रतिभा के बल पर जियाना शाह आज देश दुनिया में पहचान बना चुकी हैं। पहली क्लास की छात्रा ने हाल ही में एक साथ तीन वर्ल्ड रिकॉर्डस अपने नाम किए हैं। उन्होंने एक ऑनलाइन प्रतियोगिता में भाग लिया था, जिसमें 12 मिनट के टारगेट समय में 195 देशों की जानकारी देनी थी। जिसे जियाना ने मजह 9 मिनट 31 सेकंड में पूरा कर दिया। इस प्रतियोगिता में देशों की राजधानी, वहां की करंसी, झंड़े समेत 7 जानकारियां पूछी गई थीं।  

जियाना शाह इंदौर के डेली कॉलेज में पहली क्लास में पढ़ती हैं। उनके पिता बिजनेस मैन हैं। मां नीतू शाह डॉक्टर हैं। पिता से प्रेरणा पाकर उन्होंने दुनिया की जानकारियां याद करना शुरू किया था। धीरे-धीरे उन्हें इसमें मजा आने लगा। जियाना देश दुनिया से जुड़ीं जानकारियां दो साल से याद कर रहीं थीं। लेकिन रिकॉर्ड बनाने के लिए रोजाना प्रेक्टिस का सेशन उन्होंने तीन महीने पहले ही शुरु किया था। उनकी मां और पिता उनकी इस तैयारी में जी जान से जुटे थे। बच्ची की लगन और माता पिता मेहनत रंग लाई। इस ऑनलाइन इवेंट के दौरान जियाना को 195 देशों के नेशनल फ्लैग को पहचाना, उस देश की राजधानी, वहां की करंसी, भाषा, देश के प्रसिद्ध पर्यटन स्थलों के साथ वहां के लैंडमार्क और महाद्वीपों की जानकारी दी। वह भी 9.31 मिनट के समय में यह काम पूरा किया।

और पढें: वर्ल्ड की यंगेस्ट एस्ट्रोनॉमर बनीं निकोल ओलिवेरा, 8 की उम्र में खोजे 18 एस्टेरॉयड

जियाना से पहले एक अन्य भारतीय बच्ची ने 8 साल की उम्र में 13 मिनट में यह कारनामा कर दिखाया था। अब जियाना ने उनका रिकॉर्ड तोड़ते हुए अब तीनों खिताब अपने नाम किए हैं। जियाना का कहना है कि पापा के कहने पर उन्होंने इसकी शुरूआत की थी, पापा ने कहा था कि देशों की जानकारी याद करने से मजा आएगा। जिसके बाद वे इस काम में पेरेंट्स के साथ जुट गई, और रिकॉर्ड बना डाला।