दुकानें खाली कराने के लिए भाजपा की साजिश, शॉपिंग कॉम्प्लेक्स में लगवाई आग, कांग्रेस ने जारी किए फुटेज

दीनदयाल उपाध्‍याय भवन परिसर से सटे कमर्शियल कॉम्प्लेक्स में स्‍थित एक दुकान में गुरुवार रात लगी थी आग, कांग्रेस का दावा- बीजेपी ने ही साजिश के तहत लगाई आग

Updated: Jan 07, 2023, 07:35 PM IST

दुकानें खाली कराने के लिए भाजपा की साजिश, शॉपिंग कॉम्प्लेक्स में लगवाई आग, कांग्रेस ने जारी किए फुटेज

भोपाल। मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल में प्रदेश भाजपा कार्यालय को तोड़कर नया दफ्तर बनाया जा रहा है। पुराने कार्यालय के शॉपिंग कॉम्प्लेक्स में बीते दिनों किसी ने आग लगा दी। कांग्रेस ने इसे बीजेपी का ही षड्यंत्र करार दिया है। साथ ही फुटेज जारी करते हुए आरोप लगाया है कि सत्ताधारी दल दुकानों को खाली कराने के लिए तालिबानी चरित्र अपना रही है।

दरअसल, राजधानी के 7 नंबर स्टॉप इलाके में साल 1991 में बनाए गए BJP ऑफिस के साथ ही शॉपिंग कॉम्प्लेक्स भी बनाई गई थी। नए ऑफिस निर्माण के लिए इन दुकानों को खाली कराने के लिए BJP की ओर से निर्देश दिए गए हैं। लेकिन दुकानदारों ने दुकानें खाली करने से साफ इनकार कर दिया है। कांग्रेस भी इन दुकानदारों के समर्थन में उतर आई है। कांग्रेस मीडिया विभाग के अध्यक्ष केके मिश्रा ने BJP पर दुकानों में आग लगवाने की साजिश रचने का आरोप लगाया है।

प्रदेश कांग्रेस मीडिया विभाग के अध्यक्ष केके मिश्रा कहा कि, 'भोपाल स्थित बीजेपी की वर्ष 1992 की पुरानी बिल्डिंग टूटकर नई बन रही है। बीजेपी कार्यालय के साथ बिल्डिंग में कई दुकानें और दफ्तर भी चल रही है। दुकान में रहने वाले जलकर खाक हो जाएं और दुकानदारों को पैसे न देना पड़े। इसलिए आग लगवाई गई।' पुराने बीजेपी कार्यालय से सटी दुकानों में आग लगाने का सीसीटीवी फुटेज कांग्रेस ने जारी किया है। सीसीटीवी में आगजनी करने वाला शख्स देखा जा सकता है। केके मिश्रा के आरोपी भाजपा कार्यकर्ता है, लेकिन बीजेपी नेताओं के दबाव के कारण पुलिस उसे गिरफ्तार नहीं कर रही है।

यह भी पढ़ें: आप छाती ठोककर कह सकते हैं कि हमारी सरकार बन रही है, प्रभारियों की बैठक में बोले कमलनाथ

केके मिश्रा ने कहा कि, 'मुझे जो जानकारी मिली है, उसके अनुसार इस बिल्डिंग की जगह अब दस मंजिला इमारत बनेगी। इसमें डेढ़ सौ करोड़ रुपए लग रहे हैं। जो राशि नए कार्यालय के निर्माण में लगेगी, वो राशि भाजपा के पास कहां से आई है? बीजेपी को इसका जवाब देना चाहिए।' कांग्रेस नेता ने आगे कहा कि BJP कार्यालय में दुकानों से रोजी-रोटी चलाने वाले दुकानदार अब बेरोजगार हो जाएंगे। भाजपा अगर 40-50 लाख दुकानदारों को देती भी है, तो वो पैसा भाजपा के पास कहां से आया? इसका हिसाब भी देना चाहिए।