छत्तीसगढ़ से मध्य प्रदेश पहुंचे हाथियों के झुंड ने दंपत्ति को कुचला, मौके पर ही दोनों की मौत

मध्य प्रदेश के शहडोल जिले में हाथियों के झुंड ने महुआ बीनने जंगल गये एक पति-पत्नी को मंगलवार सुबह कुचल दिया, जिससे दोनों की मौके पर ही मौत हो गई

Updated: Apr 06, 2022, 10:02 AM IST

छत्तीसगढ़ से मध्य प्रदेश पहुंचे हाथियों के झुंड ने दंपत्ति को कुचला, मौके पर ही दोनों की मौत
Photo Courtesy: SciTech

शहडोल। मध्य प्रदेश के शहडोल जिले में हाथियों का एक झुंड पिछले दो दिनों से विचरण कर रहा है। छत्तीसगढ़ से मध्य प्रदेश आए हाथियों के इस दल ने मंगलवार सुबह एक बुजुर्ग दंपत्ति को कुचल दिया। मौके पर ही दोनों की मौत हो गई।

मामला शहडोल जिले के जयसिंह नगर अंतर्गत उत्तर वन मंल वन परिक्षेत्र अमझोर के शारदपुर व चितराँव गांव का है। रिपोर्ट्स के मुताबिक 60 वर्षीय बुजुर्ग मोतीलाल बसोर और उनकी 55 वर्षीय पत्नी मोलिया बाई मंगलवार सुबह जंगल में महुआ बीनने गए थे। तभी वहां अचानक हाथियों का झुंड आ धमका। जंगली हाथियों ने दोनों पति-पत्नी को पैरों तले कुचल दिया जिससे मौके पर ही दोनों की मौत हो गई।

यह भी पढ़ें: चोर को पकड़कर सीधे गंगा स्नान कराने ले गए पुलिसकर्मी, SP ने भेजा कारण बताओ नोटिस

हाथियों को देख आसपास महुआ बीन रहे अन्य लोगों ने हल्ला मचाना शुरू किया जिसके बाद हाथी वहां से चले गए। मुख्य वन संरक्षक पी के वर्मा ने बताया कि छत्तीसगढ़ से हाथियों का एक झुंड रविवार रात मध्य प्रदेश आया था। हाथियों के इस झुंड में दो हाथी, दो हथिनी और तीन बच्चे शामिल हैं। वन परिक्षेत्र में हाथियों की मौजूदगी को देखते हुए वन विभाग का अमला वहां मौजूद है और हाथियों की आवाजाही पर बराबर निगाह रखी जा रही है।

वर्मा के मुताबिक यह हाथियों का नया दल है और इसमें बच्चे भी शामिल हैं, इसलिए वे अधिक संवेदनशील दिख रहे हैं। उन्होंने बताया कि मृतकों के परिजनों को वन विभाग द्वारा तात्कालिक सहायता राशि उपलब्ध कराई गई है। जंगल से लगे ग्रामीण क्षेत्रों में मुनादी करा लोगों को जंगल की तरफ ना जाने की समझाइश दी जा रही है।