पीएम मोदी के संसदीय क्षेत्र में मौत का तांडव, श्मशान घाटों पर मुर्दे कर रहे अपनी बारी का इंतजार

वाराणसी में कोरोना का भयावह मंजर, श्मशान के बाहर दर्जनों लाशें कर रही हैं अपनी बारी का इंतजार, गली-चौराहों पर मची चीखपुकार, लाश जलाने के लिए परिजन दे रहे ठेका

Updated: Apr 16, 2021, 03:41 PM IST

पीएम मोदी के संसदीय क्षेत्र में मौत का तांडव, श्मशान घाटों पर मुर्दे कर रहे अपनी बारी का इंतजार
Photo Courtesy: NDTV

वाराणसी। देशभर में कोरोना की दूसरी लहर ने भयंकर कोहराम मचा रखा है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के संसदीय क्षेत्र वाराणसी में चारों ओर भयावह मंजर देखने को मिल रही है। शहर में चारों तरफ चीख-पुकार मचा हुआ है और कोरोना संक्रमित मरीज संसाधनों के अभाव में मौत से जूझ रहे हैं। गंगा की नगरी में श्मशानों का मौजूदा दृश्य एक बुरे स्वप्न के जैसा हो गया है जहां एक साथ दर्जनों लाशें जलाई जा रही हैं।

कोरोना ने किस आक्रमकता के साथ वाराणसी को अपने चपेट में लिया है इस बात का अंदाजा हरिश्चंद्र घाट से लगाया जा सकता है। यहां आज सुबह से दर्जनों लाशें कतार में अपनी बारी का इंतजार कर रहे हैं। जी हां, मौत के बाद इंसान की लाशें भी लाइनों में लगने को मजबूर है। हरिश्चंद्र घाट पर लाशों को जलाने के दो तरीके हैं, एक इलेक्ट्रिक से और दूसरी लकड़ी से। इसके बावजूद 7-8 घंटे से पहले किसी का नंबर नहीं आ रहा है। 

उधर परिजन इतने बेबस हो गए हैं कि उन्हें अपने प्रियजनों की लाशें जलाने के लिए ठेका देकर वापस लौटना पड़ रहा है। स्थिति इतनी भयावह है कि एक घर में दो-दो, तीन-तीन लोगों की मौत हो रही है। ऐसे में परिजन लाश को ठेके पर देकर जो जिंदा हैं उन्हें जीवित बचा लेने की आस लिए वापस भाग रहे हैं। चूंकि कोविड-19 के सभी लाश हरिश्चंद्र घाट पर ही भेजे जा रहे हैं, ऐसे में यहां कतार सबसे ज्यादा है। स्थिति इतनी बुरी है कि श्मशान पर लकड़ियां कम पड़ गई है।

यह भी पढ़ें: कुंभ मेले में कोरोना विस्फोट, 2100 से ज्यादा लोग पॉजिटिव, निरंजनी अखाड़ा ने किया मेला समाप्ति का ऐलान

वाराणसी में कल ही कोरोना के करीब ढाई हजार  नए मामले सामने आए हैं। विशेषज्ञ इस पौराणिक शहर को लेकर इसलिए भी ज्यादा चिंतित हैं कि वाराणसी में मामले ऐसे ही बढ़ते रहे तो यहां की तंग गलियों के बाशिंदों के पास आइसोलेट होने तक की जगह नहीं होगी। बता दें कि कल उत्तरप्रदेश में महामारी के शुरुआत के बाद से अबतक के सबसे ज्यादा मामले दर्ज किए गए हैं। राज्यभर में कल 22 हजार 439 लोगों की कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव आई।

हर रविवार लॉकडाउन का ऐलान

राज्य में कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए प्रदेश सरकार ने हर रविवार संपूर्ण लॉकडाउन लागू करने का फैसला लिया है। राज्य सरकार ने आज ही इस बाबत दिशानिर्देश जारी किए हैं। साथ ही मास्क न लगाने पर 1000 रुपए जुर्माना वसूलने का प्रावधान बनाया गया है। वहीं यदि इसके बाद भी कोई व्यक्ति दूसरी बार बिना मास्क के पकड़ा जाता है तो उसे 10 हजार रुपए जुर्माना देने होंगे।