भोपाल: कांग्रेस और बीजेपी कैंडिडेट ने मेयर पद के लिए भरा पर्चा, सीएम चौहान ने विभा पटेल पर साधा निशाना

राजधानी भोपाल के मेयर पद के चुनाव के लिए बीजेपी ने मालती राय को उम्मीदवार बनाया है तो कांग्रेस ने यहां से विभा पटेल को टिकट दिया है, दोनों ने शुक्रवार को शुभ मुहूर्त में नामांकन दाखिल किया

Updated: Jun 17, 2022, 06:32 PM IST

भोपाल: कांग्रेस और बीजेपी कैंडिडेट ने मेयर पद के लिए भरा पर्चा, सीएम चौहान ने विभा पटेल पर साधा निशाना

भोपाल। मध्य प्रदेश में निकाय चुनाव को लेकर राजनीतिक सरगर्मियां तेज हो गई है। दोनों दल एक दूसरे के खिलाफ आक्रामक हैं। मेयर चुनाव के लिए इंदौर और भोपाल हॉट सीट माना जा रहा है। भोपाल में कांग्रेस और बीजेपी दोनों दलों के प्रत्याशियों ने आज महापौर पद के लिए नामांकन पत्र दाखिल किया।

राजधानी भोपाल के मेयर पद के चुनाव के लिए बीजेपी ने मालती राय को उम्मीदवार बनाया है तो कांग्रेस ने यहां से विभा पटेल को टिकट दिया है। कांग्रेस की विभा पटेल शुक्रवार को नॉमिनेशन से पहले एक रैली में शामिल हुईं। इसके बाद वह दोपहर 12.25 बजे विभा कलेक्टोरेट पहुंची। उनके प्रस्तावक के रूप में विधायक पीसी शर्मा, आरिफ मसूद और जिलाध्यक्ष कैलाश मिश्रा भी साथ थे। भोपाल का चुनाव इसलिए अहम हो गया है क्योंकि यहां कांग्रेस के दो पूर्व मुख्यमंत्रियों दिग्विजय सिंह और कमलनाथ की प्रतिष्ठा दांव पर लगी हुई है। 

उधर बीजेपी कैंडिडेट मालती राय ने नामांकन भरने से पहले शुकव्रार को सबसे पहले मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के साथ कर्फ्यू वाली माता मंदिर में दर्शन कर आशीर्वाद लिया। इसके बाद वे एक सभा को संबोधित करते हुए मालती राय ने दो प्रमुख संकल्प लिए। उन्होंने कहा कि वे भोपाल नगर निगम को भ्रष्टाचार मुक्त बनाएंगी। साथ ही स्वच्छता अभियान में भोपाल को नंबर वन बनाएंगी। इसपर कांग्रेस ने सवाल उठाते हुए कहा कि यानी इसके पहले महापौर आलोक शर्मा के कार्यकाल में नगर निगम भ्रष्टाचार का अड्डा था? 

सभा को सीएम शिवराज ने भी संबोधित किया। उन्होंने कहा कि, 'कांग्रेस ने वही घिसे-पिटे प्रत्याशी बना दिए और कोई मिला ही नहीं। यह भोपाल अकेले की कहानी नहीं है। आपके यहां कोई कार्यकर्ता है की नहीं है कि वही कि वही रिपीट करते जा रहे हो। मेयर को फिर मेयर बना दो। कमलनाथ कांग्रेसी कार्यकर्ताओं की बेइज्जती कर रहे हैं। इंदौर में विधायक को, ग्लालियर में जो विधायक है उसकी पत्नी महापौर बनेगी। सतना में भी विधायक को प्रत्याशी बना दिया।कांग्रेस इतनी कंगाल हो गई। या ऐसा लगता है कि जो जमकर माल लेके सप्लाई करे, उसे ही टिकट दे दे। वाह रे कमलनाथ। यह कांग्रेस और बीजेपी में अंतर है।'